Rahat Indori, Rahat Indori Shayari, Rahat Indori Shayari in Hindi, Images, Quotes

Rahat Indori, Rahat Indori Shayari, Rahat Indori Shayari in Hindi, Images, Quotes

अब हम मकान में ताला लगाने वाले हैं
पता चला हैं की मेहमान आने वाले हैं

💠💠💠
Ab hum makaan ke tala lagaane wale hain
Pata chala hain ki mehaman aane wale hain
💠💠💠

Rahat Indori Shayari
Rahat Indori Shayari

आँखों में पानी रखों, होंठो पे चिंगारी रखो
जिंदा रहना है तो तरकीबे बहुत सारी रखो
राह के पत्थर से बढ के, कुछ नहीं हैं मंजिलें
रास्ते आवाज़ देते हैं, सफ़र जारी रखो

💠💠💠
Aankhon mein paanee rakhon, hontho pe chingaaree rakho
Jinda rahana hai to tarakeebe bahut saaree rakho
Raah ke patthar se badh ke, kuchh nahin hain manjilen
Raaste aavaaz dete hain, safar jaaree rakho
💠💠💠

Rahat Indori Shayari
Rahat Indori Shayari

जागने की भी, जगाने की भी, आदत हो जाए
काश तुझको किसी शायर से मोहब्बत हो जाए
दूर हम कितने दिन से हैं, ये कभी गौर किया
फिर न कहना जो अमानत में खयानत हो जाए

💠💠💠
Jagne ki bhi jagane ki bhi aadat ho jaye
Kash tujh ko bhi kisi shayer se mohbbt ho jaye
Door hum kitne dinno se hain ye kabhi gaur kiya
Fir na kehna jo ayanat me khayanat ho jaye
💠💠💠

Rahat Indori Shayari
Rahat Indori Shayari

सूरज, सितारे, चाँद मेरे साथ में रहें
जब तक तुम्हारे हाथ मेरे हाथ में रहें
शाखों से टूट जाए वो पत्ते नहीं हैं हम
आंधी से कोई कह दे की औकात में रहें

💠💠💠
Suraj, sitaare, chaand mere saath me rahe
jab tak tumhare haath mere haath me rahe
Shaakhon se toot jaaye wo patte nahi hain hum
Aandhi se koi kah de ki aukaat me rahe
💠💠💠

Rahat Indori Shayari
Rahat Indori Shayari In Hindi

Read More Shayari – Funny Shayari | Funny Love Shayari | Comedy Shayari | Best Funny Status & Sms

गुलाब, ख्वाब, दवा, ज़हर, जाम क्या क्या हैं
में आ गया हु बता इंतज़ाम क्या क्या हैं
फ़क़ीर, शाह, कलंदर, इमाम क्या क्या हैं
तुझे पता नहीं तेरा गुलाम क्या क्या हैं

💠💠💠
Gulab, khwab, dwa, jahar, jaam, kya kya hain
mein aa gay hun bata intzaam kya kya hain
Fakir, shaah, kalndar, imaam, kya kya hain
Tujhe pata nahi tera gulam kya kya hain
💠💠💠

Rahat Indori Shayari
Rahat Indori Shayari

कभी महक की तरह हम गुलों से उड़ते हैं
कभी धुएं की तरह पर्वतों से उड़ते हैं
ये केचियाँ हमें उड़ने से खाक रोकेंगी
की हम परों से नहीं हौसलों से उड़ते हैं

💠💠💠
Kabhi mahak ki tarah hum gulon se udate hain
kabhi dhuyen ki tarah parvaton se udate hain
Ye kechiya hume udne se khaak rokengi
Ki hum paron se nahi housalon se udate hain
💠💠💠

Rahat Indori Shayari
Rahat Indori Shayari

हर एक हर्फ़ का अंदाज़ बदल रखा हैं
आज से हमने तेरा नाम ग़ज़ल रखा हैं
मैंने शाहों की मोहब्बत का भरम तोड़ दिया
मेरे कमरे में भी एक “ताजमहल” रखा हैं

💠💠💠
Har aek harf ka andaaz badal rakha hain
Aaj se humne tera naam gazal rakha hain
Maine shaahon ki mohabbt ka bharm tod diya
Mere kamre me bhi aek Tajmahal rakha hain
💠💠💠

Rahat Indori Status
Rahat Indori Status

Read More Shayari – Good Morning Shayari | Zindagi jeene ke do tareeke bana lo

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close